Tuesday, March 15, 2011

ग़ज़ल

कई दिनों से व्यस्त होने के कारण कुछ ब्लोग्स पर जाना नहीं हुआ, और कुछ पर गया  भी तो टिप्पणी नहीं कर पाया, कुछ पोस्ट्स  को मोबाइल पर पढ़ा तो अंग्रेजी में टिप्पणी की इस के लिए क्षमा प्रार्थी हूँ,

होली आने वाली है तो हम भी थोड़ी मस्ती कर ले, आप लोगो ने बहुत सी ग़ज़ल पढ़ी होंगी  और सुनी होगी,  कभी सोचा है  ग़ज़ल कैसे बनती है?  नहीं ........ तो सुनये

लड़की छेड़ी लगा चांटा तो ग़ज़ल बनी
फेल हुए पापा ने डांटा तो ग़ज़ल बनी
भोंकता रहा देर तक वो मुझे देख कर
उनकी गली के कुत्ते ने काटा  तो ग़ज़ल बनी
वो दूर रहे मझसे तो कोई बात नहीं
पास आकर औरों से भिड़ाया टांका तो ग़ज़ल बनी
बड़े शोंक से दिलाई हाई हिल  सैंडिल उनको
बाज़ार में वो ऊँची लगी मैं नाटा तो ग़ज़ल बनी
दावतों पे दावत देते रहे दोस्तों को
हो गया जेब को घाटा तो ग़ज़ल बनी
खुले आम गुलाल लगाया परायी जायी को
फिर चप्पल बजी बाटा तो ग़ज़ल बनी


होली की शुभकामनाये

32 comments:

  1. ...
    ***
    Nice post.
    बुरा न मानो होली है.
    राय और दिल तो हम भी रखते हैं परन्तु कह नहीं सकते , हमें डर है किसी बूढ़ी लुगाई का .

    ReplyDelete
  2. आपकी ग़ज़ल वाकई तारीफ के काबिल है!

    ReplyDelete
  3. !! होली की शुभकामनाये!!

    ReplyDelete
  4. वाह! बेहतरीन ग़ज़ल

    ReplyDelete
  5. खुले आम गुलाल लगाया परायी जायी को
    फिर चप्पल बजी बाटा तो ग़ज़ल बनी
    सुन्दर...एक-एक शब्द भावपूर्ण ....
    बेहद सुन्दर नज़्म ...सुप्रभात

    ReplyDelete
  6. सभी गजलों के साथ उनके बनने का फार्मूला पर्याप्त दिलचस्प लगा ।
    होली की शुभकामनाओं सहित...

    ReplyDelete
  7. वाह दीपक जी ,
    होली की ग़ज़ल बढ़िया बनी | हास्य का पुट काबिले तारीफ है |

    ReplyDelete
  8. बहुत खूबसूरत गजल
    बाटा वालों से आप का कुछ लेना देना है क्या सही बात है कुछ ऐसी ही बातों पर गजल बनाती है
    होली की हार्दिक शुभ कामनाएं आपको और आपके पूरे परिवार को

    ReplyDelete
  9. भोंकता रहा देर तक वो मुझे देख कर
    उनकी गली के कुत्ते ने काटा तो ग़ज़ल बनी

    सही ग़ज़ल बन गयी ....शुभकामनायें :-)

    ReplyDelete
  10. बहुत खूबसूरत गजल| धन्यवाद|

    ReplyDelete
  11. बहुत बहुत शुभकामनाए आपको ये समझाने के लिए कि गज़ल कैसे बनती है। होली की हार्दिक शुभकामनाए।

    ReplyDelete
  12. अच्छा जी तो ऐसे बनती है ग़ज़ल. चलिए अब हम भी ट्राय करेंगे :)

    ReplyDelete
  13. वाह जी वाह...
    वाह से जोड़ी वाह तो समझो ग़ज़ल हुई...
    मज़ा आ गया पढ़कर...

    ReplyDelete
  14. हा हा हा ...ग़ज़ल बनने के ये नए अंदाज़ मुझे पहले पता नहीं थे ...मजेदार !

    ReplyDelete
  15. ग़ज़ल बनाने का सुंदर तरीका सिखा दिया आपने दीपक जी .

    ReplyDelete
  16. आप सभी होली की हार्दिक शुभकामनाये
    दोस्तों ब्लॉग पर अनियमितता होने के कारण आप से माफ़ी चाहता हूँ .

    ReplyDelete
  17. wo door rahe mujhse koi baat nahi
    paas aaker ouro se tanka bhidaya to gajal bani
    bhai sahab kis tarah se mubarak baad do kher
    bahut khoob bahut khoob

    ReplyDelete
  18. आपकी गज़ल में वाकई दर्द है। शुभ होली!

    ReplyDelete
  19. बड़े शोंक से दिलाई हाई हिल सैंडिल उनको
    बाज़ार में वो ऊँची लगी मैं नाटा तो ग़ज़ल बनी

    बहुत दर्द है ,भाई.

    खुले आम गुलाल लगाया परायी जायी को
    फिर चप्पल बजी बाटा तो ग़ज़ल बनी

    दर्द की इन्तहा हो गयी यहाँ आकर.

    बस और नहीं.
    आपको होली मुबारक.

    ReplyDelete
  20. होली के रंग में रही कविता बहुत रंगीन बनी है. होली मुबारक.

    ReplyDelete
  21. आपके लिए विशेष एक शेर और भेज रहा हूँ।
    जा रहे थे हनींमून के लिए होनोलूलू
    अचानक आ गया ज्वार-भाटा तो गजल बनी॥
    -----------------------------------
    प्रशंसनीय.........लेखन के लिए बधाई।
    आपका होली के अवसर पर विशेष ध्यानाकर्षण हेतु.....
    ==========================
    देश को नेता लोग करते हैं प्यार बहुत?
    अथवा वे वाक़ई, हैं रंगे सियार बहुत?
    ===========================
    होली मुबारक़ हो। सद्भावी -डॉ० डंडा लखनवी

    ReplyDelete
  22. होली के पर्व की अशेष मंगल कामनाएं। ईश्वर से यही कामना है कि यह पर्व आपके मन के अवगुणों को जला कर भस्म कर जाए और आपके जीवन में खुशियों के रंग बिखराए।
    आइए इस शुभ अवसर पर वृक्षों को असामयिक मौत से बचाएं तथा अनजाने में होने वाले पाप से लोगों को अवगत कराएं।

    ReplyDelete
  23. होली की बधाइयां....

    ReplyDelete
  24. आप सबको होली मुबारक

    ReplyDelete
  25. होली पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएँ|

    ReplyDelete
  26. आपको सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  27. वाह ... होली के अंदाज़ की ग़ज़ल पेश की है आपने तो ...
    आपको और समस्त परिवार को होली की हार्दिक बधाई और मंगल कामनाएँ ....

    ReplyDelete
  28. रंग के त्यौहार में
    सभी रंगों की हो भरमार
    ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार
    यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार।

    आपको और आपके परिवार को होली की खुब सारी शुभकामनाये इसी दुआ के साथ आपके व आपके परिवार के साथ सभी के लिए सुखदायक, मंगलकारी व आन्नददायक हो। आपकी सारी इच्छाएं पूर्ण हो व सपनों को साकार करें। आप जिस भी क्षेत्र में कदम बढ़ाएं, सफलता आपके कदम चूम......

    होली की खुब सारी शुभकामनाये........

    सुगना फाऊंडेशन-मेघ्लासिया जोधपुर,"एक्टिवे लाइफ"और"आज का आगरा" बलोग की ओर से होली की खुब सारी हार्दिक शुभकामनाएँ..

    ReplyDelete
  29. आप सबका ब्लाग पर आने के लिए धन्यवाद
    होली की शुभकामनाये

    ReplyDelete